69000 शिक्षक भर्ती परीक्षा में जमकर हुई धांधली

 

69000 भर्ती परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद प्रश्नों के घेरे में। परीक्षार्थियों ने भर्ती परीक्षा संपन्न होते ही परीक्षा सेन्टर्स मे सामूहिक नकल के खिलाफ आवाज उठाई थी, लेकिन योगी सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया।

दोषपूर्ण परीक्षा

उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड (उत्तर प्रदेश बेसिक एजुकेशन बोर्ड, UPBEB) के 69000 प्राइमरी शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा का पेपर वाट्सएप पर वायरल हो गया था। अब यूपी कैडर के वरिष्ठ आईपीएस (आईपीएस) अधिकारी ने फर्जीवाडे. की आशंका जताई है। वरिष्ठ आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने ट्वीट कर लिखा, ‘यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा 2019 में पेपर लीक, सेटिंग केस में लखनऊ मे मुझसे अभयर्थी मिले। कई महत्वपूर्ण तथ्य / साक्ष्य प्राप्त हुए हैं। पेपर लीक की प्रबल सम्भावना दिखती है। ‘ उन्होंने कहा कि यदि पेपर लीक, सेटिंग से जुड़े साक्ष्य / अभिलेख हों तो कृपा WhatsApp (9415534526) या इस पते पर amitabhthakurlko@gmail.com से करें।

अब यूपी कैडर के वरिष्ठ आईपीएस (आईपीएस) अधिकारी ने फर्जीवाडे की। की आशंका जताई है। कुछ संदिग्ध परीक्षाफल परीक्षार्थियों ने साझा किया है, ,,

मामला एक। परीक्षा केंद्र ~ मजीदिया इस्लामिया इंटर कालेज रोल नंबर 35352010425 से .449 तक। सभी 105 अंक / या अधिक

  लाकडाउन में कैसे हो रहा है अनलाइन फ्राड

केस ~ २     आर     साल में स्नातक
टेट में 201३ अंक एटीआर २०१ में
फेल
एटीआर २०१ ९ में १४३ अंक

परिणाम
परिणाम

केस -3 एक ही परिवार के सभी लोग भी हैं

एक ही फैमिली के है और बराबर मार्कर हैं। अब, आप अंदाजा लगा सकते हैं की कितनी व्यापक रूप से धांधली हुई होंगी।

 

परीक्षार्थियों ने बिहार बोर्ड में हूए टापर जैसे कि फर्जीवाडे की आशंका व्यक्त की है।

बी टी सी संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष  अभिषेक त्रिपाठी ने 130 अंक से अधिक अंक.पाने वाले परीक्षार्थियों से लाइव साक्षात्कार करने के लिए मीडिया से अनुरोध किया है ।

उन्होंने परीक्षा के परिणामों और फर्जीवाडे.की जांच एसटीएफ से करवाने की मांग की है! गौरतलब है कि अभ्यर्थियों ने सोशल मीडिया पर इस बारे में काफी संदिग्ध परीक्षाफल शेयर किए हैं। अभ्यर्थियों में परीक्षा परिणाम को लेकर रोष व्याप्त है। 

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.