शिक्षकों से ठगी का नया तरीका

Share for friends

ठगों के द्वारा स्कूल की जानकारी भरने के नाम से शिक्षकों को फोन किए जा रहे हैं,मानव सम्प़दा कोड डाइस कोड , यूनिक कोड, स्कूल का नाम पद और अंत में समस्त जानकारी लेने के बाद शिक्षक समझता है कि कोई विभाग से जानकारी मागी जा रही है ,फिर विश्वास में लेकर मोबाइल पर आया ओटीपी मांगते हैं और उनके खाते से राशि निकाली जाती है।

ऐसा ही केस शासकीय माध्यमिक विद्यालय रैसलपुर(जिला होशंगाबाद)की शिक्षिका श्रीमती शांति बाथम के साथ किया गया, उनके खाते से ₹ 95000 निकाल लिए गए

फोन पर जानकारी लेकर ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले सामने आते रहे हैं लेकिन धोखधड़ी के माध्यमिक विद्यालय में पदस्थ सहायक अध्यक्ष शांति बाथम के साथ ऐसे ही धोखाधड़ी हुई हैं
जहां एक दिन पहले किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन करके एटीएम अपडेट करने के नाम पर जानकारी ली और बाद में ओटीपी भी पूछ लिया। शिक्षिका को कुछ समझ आता इससे पहले ही उनके खाते से 95 हजार रूपए निकलने का मैसेज आ गया। पीडि़त शिक्षिका ने बैंक के साथ ही पुलिस थाने में मामले की शिकायत की।

शिक्षिका को यूडायस कोड और मानव सम्प़दा कोड बताकर लिया विश्वास में

शिक्षिका के पास 13 तारीख को सुबह 10 बजे फोन आया। अज्ञात व्यक्ति ने एटीएम अपडेशन के नाम पर जानकारी मांगी तो शिक्षिका ने बिना कोई जानकारी बताए फोन काट दिया।

आरोपी ने दोबारा फोन लगाया और शिक्षिका के नाम, पदनाम, पदस्थ स्कूल और गोपीनीय युनिक आइडी भी बताई। इतनी जानकारी सुन शिक्षिकों को विश्वास हो गया कि ये बैंक से ही फोन आया है और उन्होंने पूरी जानकारी बता दी।

क्या कहा शिक्षिका ने

मेरे पास फोन आया उन्होंने मानव सम्प़दा आईडी,यूडायस कोड,यूनिक कोड सहित अन्य जानकारी बताई तो मुझे लगा कि बैंक से ही फोन आया होगा। मैने जानकारी बताई और मेरे खाते से 95 हजार रूपए कट गए।

बैंक का क्या है कहना

 देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) ने एक बार फिर अपने 42 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों को अलर्ट किया है.
एसबीआई (SBI) ने अपने ताजा अलर्ट में ग्राहकों से कहा कि वो अपने कार्ड की जानकारी खुद तक ही सीमित रखें. इसे किसी दूसरों के साथ शेयर न करें. क्योंकि देश का केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) कहता है कि आप अपने सभी बैंक डिटेल्स के एकमात्र संरक्षक हैं.

SBI ने ट्वीट में क्या लिखा


SBI ने अपने ट्वीट में लिखा, आपको अपने बैंक डिटेल्स जैसे, पासवर्ड (Password), पिन (PIN), ओटीपी (OTP), सीवीवी (CVV), यूपीआई-पिन (UPI-PIN) आदि की जानकारी सिर्फ खुद को होनी चाहिए, किसी दूसरे को नहीं. एसबीआई ने बताया कि RBIKehtaHai कि जानकार बनिए, सतर्क रहिए!




बैंक को तुरंत दें सूचना


SBI ने अपने दूसरे ट्वीट में ग्राहकों को बताया कि अगर आपके बैंक खाते में धोखाधड़ी होती है तो इसकी सूचना तुरंत अपने बैंक को दें. RBIKehtaHai कि आपकी ओर से जल्दी सूचना मिलने पर हम अपनी तरफ से इस पर तत्काल कार्रवाई कर सकते हैं. अपने खाते में किसी भी अनधिकृत गतिविधि के लिए सतर्क रहें और हमें तुरंत सूचित करें.

ये SMS खाली कर सकता है आपका बैंक अकाउंट


बता दें कि एसबीआई ने हाल ही में अपने ग्राहकों को इनकम टैक्स रिफंड (Income Tax Refund) के नाम पर हो रही धोखाधड़ी को लेकर सावधान किया था.

टैक्स रिफंड के नाम पर इस तरह की धोखाधड़ी से बचने के लिए SBI ने ग्राहकों कहा था कि वो ऐसे किसी भी मैसेज में दिए गए लिंक पर क्लिक न करें, जहां उनसे टैक्स रिफंड के बारे में रिक्वेस्ट डालने की बात कही गई हो. दरअसल, कई लोगों को ऐसे मैसेज आ रहे हैं, जिसमें कहा गया है कि दिए गए लिंक पर क्लिक कर आप अपने इनकम टैक्स रिफंड के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.
शिक्षकों से ठगी का नया तरीका
Scroll to top