आयकर : सेक्शन 80DDB के तहत लगने वाला फॉर्म 10 i ( 10 आई) करें डाउनलोड

इनकम टैक्स एक्ट 1961 के भाग VI ए, इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80 सी से 80 यू के तहत कुल इनकम (ग्राउंड टोटल इंकम) से टैक्स छूट के बारे में विस्तार से बताता है।

इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80A के तहत मिलने वाली छूट करदाता की वार्षिक आय से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

धारा 80DDC के तहत व्यक्ति और HUF (हिन्दू अविवाहित परिवार) को कुछ विशेष बिमारी के लिए टैक्स छूट मिलती है। इसके तहत दीर्घकालीन पूंजीगत लाभ, धारा 111 ए के तहत अल्पकालीन पूंजीगत लाभ, घोड़ो की दौड़ या धमनी से हुई कमाई 115BB के आधीन धारा 115 A, 115AB, 115AC, 115AD, 115BBA से मिली इनकम को ता छूट छूट मिल सकती है।

 

धारा 115D के भाग VI A कई तरह के निवेश या भुगतान या निर्धारित खर्चों के संबंध में टैक्स छूट देने भाग है, इसमें दी गई कुछ विशेष जानकारियाँ निम्नलिखित हैं:

धारा 80C : यह बहुत सारे इनवेस्टमेंट जैसे जीवन बीमा, PPF या होम लोन के लिए किए गए भुगतान, स्कूल में दी गई फ़ीस आदि के संबंध में छूट देता है। धारा 80 C के तहत टैक्स छूट की अधिकतम राशि 1,50,000 रू. होगी।

धारा 80D: यह धारा स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत किए गए प्रीमियम भुगतान के संबंध में टैक्स छूट देती है।

टैक्स देने वाले या उसके परिवार की स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी की भुगतान राशि के लिए अधिकतम 25000 रू. की टैक्स छूट और वरिष्ठ नागरिक की स्तिथि में अधिकतम 50,000 रू. के टैक्स छूट मिल सकती है।

धारा 80 DD: किसी व्यक्ति या HUF द्वारा मेडिकल ट्रीटमेंट या विकलांग व्यक्ति के रखरखाव के लिए किए किसी भी खर्च के लिए अधिकतम 75000 रू. की टैक्स छूट देता है।
हर सैक्शन में छूट के रूप में कई प्रकार के खर्चों और निवेशों को शामिल किया गया है। इसमें शर्तें हैं जिन्हें टैक्स छूट के लिए पूरा करना होता है।

इस तरह किसी भी करदाता की नेट टैक्स्बल इंकम की गणना के लिए, इनकम टैक्स एक्ट 1961 के अध्याय VI(A) के तहत टैक्स छूट को समझना जरूरी है।

इसे विस्तार से जानने के लिए निम्नलिखित धारा 80DDB पढें और जानें यह किस तरह लागू होगी?

 

धारा 80DDB के अन्तर्गत टैक्स छूट
धारा 80DDB में रोगों या बिमारियों के संबंध में किए गए मेडिकल ट्रीटमेंट के खर्चों के लिए टैक्स छूट का प्रावधान है।

यदि कोई व्यक्ति या HUF ( हिन्दू अविवाहित परिवार ) विशेष बिमारी के इलाज के लिये खर्च करता है तो धारा 80DDB के तहत उसे टैक्स छूट मिलती है। इसमें मेडीकल ट्रीटमेंट में किए गए खर्चों के लिए टैक्स छूट मिलती है ना कि मेडिकल इंश्योरेंस के प्रीमियम के लिए। मेडिकल इंश्योरेंस प्रीमियम के लिए टैक्स छूट आयकर धारा 80D के तहत आती है।

धारा 80DDB के तहत कौन टैक्स माफ़ी क्लेम कर सकता है ?

धारा 80DDB के तहत टैक्स छूट के लिए क्लेम केवल व्यक्ति या HUF ( हिन्दू अविवाहित परिवार ) द्वारा ही किया जा सकता हैं। इस धारा के तहत किसी कॉर्पोरेट या अन्य संस्थाओं द्वारा छूट नहीं क्लेम की जा सकती है। साथ ही इस टैक्स छूट को वही लोग क्लेम कर सकते हैं जो पिछले साल भारत देश के निवासी रहे हों। NRI (अप्रवासी भारतीयों) पर यह धारा लागू नहीं होगी।

धारा 80DDB के तहत किसके मेडिकल ट्रीटमेंट पर टैक्स माफ़ी का प्रावधान है ?
धारा 80DDB के तहत टैक्स छूट केवल खर्च करने वाले व्यक्ति को ही मिलती है। निम्नलिखित स्तिथियों में भी व्यक्ति को छूट मिल सकती है ।

व्यक्ति विशेष: व्यक्ति विशेष के मामले में, टैक्स छूट इसके या उस पर निर्भर (Dependent) में से किसी के मेडिकल पर खर्च के लिए क्लैम किया जा सकता है। यहाँ निर्भर (Dependent) का मतलब पति या पत्नी, उसके बच्चों, उसके माता पिता, भाई/बहनों आदि से है।

 

HUF ( हिन्दू अविवाहित परिवार ): HUF के मामले में, उसके किसी भी सदस्य मेडीकल ट्रीटमेंट के खर्च को टैक्स छूट के लिए कवर किया जाएगा।

धारा 80DDB के तहत किस तरह के मेडिकल ट्रीटमेंट आएंगे ?
धारा 80DDB कुछ विशेष मेडीकल ट्रीटमेंट पर किए गए खर्चों पर टैक्स छूट की सुविधा देती है। 11DD के तहत दी गई विशेष बीमारियां निम्नलिखित हैं।

 

● न्यूरोलॉजिकल बीमारी जिसकी पहचान एक विशेषज्ञ द्वारा की गई हो, जहां विकलांगता का स्तर 40% या उससे अधिक होने का प्रमाण दिया गया हो, इसमें शामिल हैं डिमेंशिया, डिस्टोनिया इस्क्यूलर डिमोनासस, कोरियाई मोटर न्यूरोन रोग, एटमिया, पार्किंसन डिजीस और हेमबैलिस्म।
● घातक कैंसर
एड्स
● क्रोनिक रीनल फेलियर
● हेमोफिलिया या थैलेसीमिया जैसे हेमेटोलॉजिकल डिसऑनर

यह बड़ी बीमारियाँ और उनकी शारीरिक पीड़ा है

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Love it
< html > < सिर > <मेटा नाम = "Google-साइट-सत्यापन" सामग्री = "<मेटा नाम =" Google-साइट-सत्यापन "सामग्री =" rDBP0_YC_ffTaqRprI0q4okWGNbHQBeKCDlOlgVkoKo ">">> < शीर्षक > मेरा शीर्षक < / शीर्षक > < / head > < शरीर > पृष्ठ सामग्री < / शरीर > < / html >