income tax Income (इनकम) Tax से आया 143 (1) नोटिस? घबराएं नहीं- समझिए क्या है मतलब और कैसे दें जवाब?

Income (इनकम) Tax से आया 143 (1) नोटिस? घबराएं नहीं- समझिए क्या है मतलब और कैसे दें जवाब?

Contents

Spread the love

आयकर विभाग भेज रहा है टैक्स नोटिस, अब करना होगा ये काम!

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट पिछले कुछ दिनों से लोगों को लोगों को इनकम टैक्स की धारा 143(1) के तहत नोटिस भेजा जा रहा है. इस तरह के नोटिस के बाद कई लोग घबरा गए है. आइए जानें इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब...

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट भेज रहा है धारा 143(1) के तहत टैक्स नोटिस, जानें अब क्या करें

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट पिछले कुछ दिनों से लोगों को लोगों को इनकम टैक्स की धारा 143(1) के तहत नोटिस भेजा जा रहा है. इस तरह के नोटिस के बाद कई लोग घबरा गए हैं. इस पर टैक्स एक्सपर्ट बताते हैं कि इस नोटिस से करदाताओं को घबराना नहीं चाहिए. ऐसा नोटिस अक्सर हर करदाता के पास आता है.

ITR Refund में हो रही है देरी,कहीं आपने ये गलती तो नही कर दी

अगर आपके पास ऐसा नोटिस नहीं आता है तो आप मान सकते हैं कि आपका रिटर्न प्रोसेस नहीं किया गया है. अगर आपके पास भी ऐसा ही कोई मैसेज आया है तो ऐसे मामले में आपको क्या करना होगा. आइए जानें इससे जुड़ी सभी अहम बातें..

क्यों मिलता है  धारा 143(1) के तहत टैक्स नोटिस-

  • इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने और इसके वेरिफिकेशन के बाद जब इसे सबमिट किया जाता है तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इसकी जांच-पड़ताल करना शुरू कर देता है. टैक्स की भाषा में इसे लेटर ऑफ इंटीमेशन (Letter of Intimation) कहा जाता है.
  • यह नोटिस बताता है कि आपकी ओर से भरा गया रिटर्न सही है या गलत. रिटर्न फाइल करने के दौरान अगर आपने इंटरेस्ट की जानकारी (डेटा) गलत भर दी हो या फिर कोई छोटी- मोटी गलती कर दी हो तो भी आपको ऐसा नोटिस भेजा जा सकता है.

मूल रूप से यह नोटिस आपसे कहता है कि आपने रिटर्न में जो भी गलतियां की हैं उन्हें ठीक कर लें. ये भी पढ़ें

क्यों मिलता है नोटिस

> अगर इनकम टैक्स रिटर्न के दौरान जो टैक्स भरा है आपकी देनदारी उससे ज्यादा बन रही हो.

अगर आपने रिटर्न के दौरान जो टैक्स भरा है आपकी देनदारी उससे कम बन रही हो या फिर आपने रिटर्न सही भरा है.

>> एक्सपर्ट मानते हैं कि ऐसा नोटिस अक्सर हर करदाता के पास आता है. अगर आपके पास ऐसा नोटिस नहीं आता है तो आप मान सकते हैं कि आपका रिटर्न प्रोसेस नहीं किया गया है.

सेक्शन 143(1) सेक्शन 143(1) के तहत नोटिस मिलने का मतलब आपका रिटर्न आईटी विभाग ने मान लिया है। इसमें कुल आय पर कितना टैक्स बनता है और कितना टैक्स दिया यह बताया जाता है।

Income

ये आईटी विभाग का इंटीमेशन है जो वो करदाता को भेजते हैं। अगर इसमें कुल टैक्स की कोई देनदारी नहीं है तो अच्छा है। लेकिन अगर टैक्स की कुछ देनदारी बताई गई है तो इसे चुकाना जरूरी होगा।
फॉर्म 10 E दाखिल करना एरियर के रूप में वेतन प्राप्त होने पर claim relief के लिए अनिवार्य है

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने किया अलर्ट-इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से इसको लेकर मेल भेजे जा रहे है. टैक्स एक्सपर्ट्स के मुताबिक,  143(1) के तहत आने वाले टैक्स नोटिस को नोटिस ऑफ डिमांड कहा जाता है. यानी अगर आपकी कोई टैक्स देनदारी बकाया है तो आप

इस मैसेज के मिलने से 20 दिनों के भीतर उसका भुगतान कर दें. अगर आप इसमें देरी करते हैं तो 30 दिन बीत जाने के बाद आपको एक फीसद की दर से मासिक ब्याज अदा करना होगा.

अब क्या करें

(1) इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर जाएंगे तो आपको होमपेज पर बाईं तरफ के कॉलम में 9वें नंबर पर ITR Status लिखा मिलेगा.

¤ DIRECT LinkCLICK HERE

(2) इस पर क्लिक करेंगे तो नया पेज खुलेगा जहां आपको पैन नंबर, आईटीआर अकनॉलेजमेंट नंबर और कैप्चा कोड भरना होगा.

ध्यान रहे कि अकनॉलेजमेंट नंबर आईटीआर सबमिट करने के बाद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आपके रजिस्टर्ड मेल आईडी पर भेजता है.

(3) ये सारे डीटेल सबमिट करने के बाद आईटीआर प्रोसेसिंग की स्थिति पता चल जाएगी. अगर रिटर्न प्रोसेस नहीं हुआ है तो Return Submitted and verified और प्रोसेस हो गया तो Return Processed and Refund Paid लिखा हुआ आएगा.

(4) अगर आप इनकम टैक्स की वेबसाइट पर लॉग इन करेंगे तो डैशबोर्ड पर Filing of Income Tax Return और नीचे View Returns/Forms लिखा मिलेगा.

(5) आप दूसरे ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो नया पेज खुलेगा जिसमें ऊपर आपका पैन नंबर अपलोड रहेगा और नीचे असेसमेंट इयर (आकलन वर्ष) एवं इनकम टैक्स रिटर्न का सिलेक्शन करना होगा.

(6) फिर सबमिट करने के बाद रिटर्न स्टेटस दिख जाएगा. अगर रिटर्न प्रोसेस नहीं हुआ होगा तो स्टेटस में Succesfully verified लिखा होगा.

(7) ITR Processed लिखा हो तो समझ लीजिए कि आपका आईटीआर प्रोसेस हो चुका है.


Spread the love

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.