यूपी की जेल में बंद हैं सबसे ज्यादा इंजीनियर,पोस्टग्रेजुएट, NCRB के आंकड़े

Spread the love

उत्तर प्रदेश की जेलों में सबसे ज्यादा पढ़ाकू कैदी बंद हैं। इनमें से ज्यादातर इंजिनियरिंग और मास्टर्स की डिग्री रखने वाले लोग हैं।

GORAKHPUR (गोरखपुर): एक जन्मतिथि व एक नाम,मगर दो शिक्षक कर रहे नौकरी;60 फर्जी शिक्षकों के मिलने का दावा

एनसीआरबी(Ncrb)की क्राइम इन इंडिया की 2019 की रिपोर्ट में इसका खुलासा किया गया है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत भर की जेलों मेंटेक्निकल डिग्री रखने वाले तकरीबन 3 हजार 740 कैदी बंद हैं। इनमें से सबसे ज्यादा 727 उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद हैं।

 

रिपोर्ट में बताया गया है कि टेक्निकल की डिग्री रखने वाले 20 प्रतिशत कैदी सिर्फ यूपी में हैं। इसके बाद महाराष्ट्र का नंबर आता है, जहां 495 इंजिनियर्स जेल में बंद हैं।

कर्नाटक में टेक्निकल की डिग्री रखने वाले 362 कैदी जेल में बंद हैं।

सोशल मीडिया पोस्ट पर नहीं होगी जेल, धारा 66A रद्द ।

इसके अलावा उत्तर प्रदेश पीजी डिग्रीधारी कैदियों के मामले में भी नंबर वन है। रिपोर्ट में बताया गया कि देश भर की जेलों में बंद 5 हजार 282 कैदी पीजी की डिग्री वाले हैं। इनमें से अकेले उत्तर प्रदेश में 2010 पीजी वाले कैदी जेलों में बंद हैं।

जेलों के प्रतिभाशाली कैद


टैलेंट का ठीक इस्तेमाल कर रहा जेल प्रशासन
यूपी के जेल महानिदेशक (डीजी) आनंद कुमार ने बताया कि टेक्निकल की डिग्री रखने वाले ज्यादातर कैदियों पर दहेज हत्या और बलात्कार के आरोप हैं।

शिक्षकों से ठगी का नया तरीका

इसके अलावा कुछ ऐसे भी हैं, जिन पर आर्थिक अपराधों के आरोप लगे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक भारत की जेलों में 3 लाख 30 हजार 487 कैदी बंद हैं। इनमें से 1.67 प्रतिशत कैदी पोस्टग्रेजुएट हैं जबकि 1.2 प्रतिशत कैदी इंजिनियर हैं। डीजी ने बताया कि इन पढ़े-लिखे कैदियों के कौशल का इस्तेमाल जेल के भीतर अच्छी तरह से किया जा रहा है।


Spread the love

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.