Manav sampda portal नही है सुरक्षित ! – UP STF

Share for friends

एसटीएफ ने प्रदेश में Manav sampda portal (मानव संपदा पोर्टल) का दुरुपयोग कर शिक्षकों से वसूली करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया। इनके पास से 8 लाख 60 हजार रुपये नकद मिले हैं। । गिरोह का मुखिया बाराबंकी निवासी यदुनंदन यादव (फर्जी नाम : प्रमोद कुमार सिंह)है।

उसके साथी सत्यपाल यादव और प्रमोद कुमार यादव (फर्जी नाम : आशीष कुमार सिंह) यहां एक अन्य शिक्षक से वसूली करने आए थे।

Manav sampda portal से धांधली

गिरफ्तार यदुनंदन यादव ने पूछताछ के दौरान मानव संपदा पोर्टल से धांधली के समबन्ध मे बताया कि मानव सम्पदा पोर्टल (Manav Sampda portal) के पब्लिक विंडो का इस्तेमाल कर प्रमाणपत्रो/marksheet से Deatils जानकर वसूली करता था।

अगर उसे वहाँ शिक्षक/शिक्षिका का मोबाइल नम्बर नही मिल पाता तो उनके जनपद पोर्टल से ग्राम प्रधान के नम्बर पर सम्पर्क कर शिक्षक/शिक्षिका का मोबाइल नंबर ले लेता था

फिर उनके नंबर पर संपर्क कर बताता था कि मैं मानव सम्प़दा पोर्टल का अधिकारी बोल रहा हूँ।आपकी तथाकथित गडबडी/फर्जी मार्कशीट सही करा दूगा।

एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में फर्जी मार्कशीट/डिग्री के आधार पर विद्यालयों में शिक्षक के पद पर नौकरी करने वालों को लेकर सूचना मिल रही थी।

स मामले के पुलिस की जिम्मेदारी एसटीएफ के एएसपी सत्यसेन यादव को सौंपी गई थी। एसटीएफ को पता चला कि प्रमोद उर्फ यदुनंदन यादव बाराबंकी में एक फर्जी शिक्षक है और मानव संपदा पोर्टल का दुरुपयोग कर अपने गैंग के जरिये धांधली कर लोगों से पैसे इकट्ठा कर रहा है।

सोमवार को उसके वेब सिनेमा स्थित पराग बूथ पर आने की सूचना मिली। इस पर वहां से तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया एसटीएफ की पूछताछ में यदुनंदन ने बताया कि प्रमोद कुमार सिंह के नाम से प्राथमिक विद्यालय, ककराहा ब्लॉक बन्नी कोडर, बाराबंकी में सहायक अध्यापक के पद पर नौकरी कर रहा है।

 

Manav sampda portal नही है सुरक्षित ! – UP STF

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to top