73 साल के नारायणमूर्ति ने 82 साल के रतन टाटा के झुककर छुए पैर, लोगों ने कहा- संस्कार हों तो ऐसे

73 वर्षीय एन आर नारायणमूर्ति ने जब 82 साल के रतन टाटा को पुरस्कार दिया तो उसके बाद झुककर उनके पैर छुए। अब सोशल मीडिया पर यह तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है।

उद्योगपति रतन टाटा को मंगलवार को टाईकॉन मुंबई 2020 लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया। उन्हें यह सम्मान इन्फोसिस के सह संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति ने प्रदान किया।

मुंबई में आयोजित इस समारोह की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है और लोग नारायण मूर्ति की खूब तारीफ कर रहे हैं। तमाम लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि ‘संस्कार हों तो नारायण मूर्ति जैसा।’

श्रीनिवास नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा,
‘यही तो भारत की पहचान है। दुनिया के और किसी कोने में आपको इस तरह का संस्कार देखने को नहीं मिलेगा। ऐसा सिर्फ भारत ही देखने को मिलता है’।

कौन हैं नारायण मूर्ति

नारायण मूर्ति का पूरा नाम नागावर रामाराव नारायण मू्र्ति है। इनका जन्म 20 अगस्त,
1946 को कर्नाटक के चिक्काबालापुरा ज़िले के शिद्लाघट्टा में हुआ था।

नारायण मूर्ति का जन्म दक्षिण भारत के अति साधारण परिवार में हुआ था।. स्कूली से अपनी शिक्षा ख़त्म करने के बाद उन्होंने मैसूर विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल की और आई आई टी कानपुर से एमटेक किया

इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान नारायण मूर्ति ने कई तरह के आर्थिक संकट का सामना किया। इन कठिन हालातों में नारायणमूर्ति के शिक्षण डॉ. कृष्णमूर्ति ने बहुत मदद की। बाद में नारायणमूर्ति ने आर्थिक सुधरने पर उनके नाम से फेलोशिप शुरू की।

इन्फोसिस की शुरुआत से पहले पहले नारायण मूर्ति,
आई आई एम अहमादाबाद में चीफ सिस्टम प्रोग्रामर थे। इसके बाद उन्होंने ‘साफ्टट्रानिक्स’ नामक कंपनी शुरू की,
लेकिन ये सफल नहीं रहा। इसके बाद वे पुणे स्थित पटनी कम्प्यूटर सिस्टम में शामिल हो गए।

इसके बाद नारायण मूर्ति ने 6 लोगों के साथ मिलकर,
1981 में इन्फोसिस की शुरुआत की। उन्होंने अपनी पत्नी सुधा मूर्ति से 10 हजार रुपये लेकर इन्फोसिस की शुरुआत की। साल 1981-2002 तक नारायण मूर्ति ही इन्फोसिसके सीइओ रहे। नास्कडैक की लिस्ट में शामिल होने वाली ये पहली भारतीय कंपनी भी है।इसका. कारोबार 30 बिलियन अमेरिकी डालर है।

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.