Rte का उल्लंघन कर की जा रही SRG,ARP की नियुक्तियां

Spread the love

प्रदेश सरकार जहां एक ओर बच्चों के सर्वांगीण विकास में जुटी है,वहीं अधिकारी पलीता लगाने मे जुटे हैं।

विभिन्न जनपदों मे ARP और SRG की नियुक्ति मे हो रहा RTE Act का उल्लंघन।

उत्तर प्रदेश के जनपदों मे हो रही SRG और ARP नियुक्तियों मे बच्चों के निःशुल्क तथा अनिवार्य शिक्षा का अधिकार का खुलेआम माखौल. उडाया जा रहा है।

बच्चों के लिए विद्यालय खुलने पर 100 दिन का अभियान PRERNA Gyanotsav ‘प्रेरणा ज्ञानोत्सव’ आयोजित किये जाने के संबंध में

विभिन्न विद्यालयों से SRG और ARP नियुक्त होकर अपने मूल विद्यालय से कार्यमुक्त हो गए हैं।

उनके मूल विद्यालय पर उनके स्थान पर किसी शिक्षक को पदस्थापित नहीं किया गया है।ऐसे मे धरातल पर व्यवस्था सुधारने के बजाय और गिरती जा रही है।

 

SRG और ARP मूल विद्यालयों पर महीनों नही जाते हैं। वे विजिट का बहाना कर मूल विद्यालय पर जाना अपनी तौहीन भी समझते है।

मंत्री जी के गृह जनपद सिद्धार्थ नगर मे नियुक्त SRG महोदय का क्या कहना ,उनके मूल विद्यालय पर मात्र एक शिक्षक है ,लेकिन वो महाशय घूम घूम कर फोटो खिचाने मे व्यस्त हैं।

बच्चों को कुछ आये चाहे न लेकिन कागज पर काम हो रहा है।

प्राथमिक शिक्षक सघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष भक्तराज त्रिपाठी ने कहा RTE Act का पालन अधिकारियों की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। इसी मे बच्चों का भविष्य। है।


Spread the love

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.