Nishtha Training Module 4: शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में जेंडर आयामों की प्रासंगिकता लिंक,वीडियो ट्यूटोरियल,प्रश्नोत्तरी सहित

निष्ठा प्रशिक्षण उत्तर प्रदेश


Module 4 Launch
Start Date : 1 November 2020
End Date: 15 November 2020

शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में जेंडर आयामों की प्रासंगिकता

हमें ये मानना होगा कि कक्षा में बच्चों की रूपरेखा निर्धारण में कक्षा का सामाजिक-शैक्षणिक ढाँचा, बहु-वर्गीयता, बहु-जातीयता, बहु-धार्मिकता, जेंडर विभेद साथ ही अक्षमता (विकलांगता) महत्वपूर्ण आयाम है।

इसी कारण कक्षा ऐसे अधिगमकर्ताओं से मिलकर बनी है जो विविध प्रजातीय, नस्लीय, सांस्कृतिक एवं सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि से संबंधित हैं, जिसमें विशेष आवश्यकता वाले बच्चे भी सम्मिलित हैं और जेंडर इन सभी श्रेणियों के विविध स्तरों में निहित है।

कक्षा में प्रवेश करने वाला प्रत्येक बच्चा, अपने परिवार या समुदाय से बिना कुछ सीखे प्रवेश नहीं करता, अपितु सभी जातीय/नस्लीय, सांस्कृतिक, भाषायी, सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि के बच्चे, पूर्व निर्मित ज्ञान लेकर विद्यालय आते हैं, जिसमें उनके अपने पारिवारिक एवं सामुदायिक वातावरण से अर्जित गृह (मातृ) भाषा एवं सांस्कृतिक मूल्य सम्मिलित हैं।

https://youtu.be/kyy4PYoWzzk

जैसा की आप अवगत है कि, निष्ठा प्रशिक्षण प्रदेश में 16 october 2020 से दीक्षा पोर्टल के माध्यम से शुरू किया गया है ।

निष्ठा ( nishtha) module 4 : उद्देश्य

  1. शिक्षकों एवं बच्चों के बीच मौजूदा जेंडर पक्षपातपूर्ण (पूर्वाग्रह) रवैये (अभिवृत्ति ) एवं व्यवहार की पहचान करने में;
  2. विभिन्न विषयों के संव्यवहार में जेंडर संवेदनशील शैक्षणिक प्रक्रियाओं का विकास

विभिन्न विषयों के संव्यवहार में जेंडर संवेदनशील शैक्षणिक प्रक्रियाओं का विकास करने में

कक्षागत वातावरण में जेंडर संवेदनशीलता को बढ़ावा देने वाली अधिगम गतिविधियों का उपयोग और उन्हें ग्रहण करने में।

प्रशिक्षण से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ निम्वत है-

Module 4 (दीक्षा Link) : https://diksha.gov.in/explore-course/course/do_3131410741302804481361

Note- दीक्षा पर सर्वर प्रॉब्लम के कारण Module 4 के सर्टिफ़िकेट 15 Nov तक सभी course completed शिक्षकों को इशू कर दिये जाएंगे ।

Dashboard Link- https://rebrand.ly/upnishthadashboard
Note- Module 4 की रिपोर्ट डैशबोर्ड पर 2 Nov से प्रदर्षित होगी |

Video Link:

https://youtu.be/h_Z7yUPM-I0

Module 4 के प्रशिक्षण के अन्त में निम्न सवाल पूछे जायेंगे, जिनके उत्तर हरे रंग से प्रदर्शित हैं।

प्रश्नोत्तरी

1- क्या या कथन सही है ‘राजनीति में सत्ता और अधिकार के पदों को संभालने में पुरुषों की तुलना में महिलाएं कम सक्षम हैं?

(i) नहीं, वे सत्ता और अधिकार के पदों को संभालने में पुरुषों की तरह सक्षम है.

(ii) हां, वे भावनात्मक रूप से कमजोर हैं और निर्णय लेने

में सक्षम नहीं हैं.

(ii) हां, महिलाएं घर के काम करने के लिए अधिक

(iv) हां, महिलाओं को जैविक रूप से कमजोर अनुकूल हैं.

2- पुरुषत्व और स्त्रीत्व को संदर्भित करता है;

(i) पितृसत्तात्मकता

(ii) जेंडर

(iii)लिंगभेद

(iv) यौन (सेक्स)

3 जेंडर और यौन(सेक्स) के बीच का आवश्यक अंतर क्या है

(i) यौन(सेक्स) एक जैविक अंतर है जबकि जेंडर पुरुष और महिलाओं के बीच सामाजिक रुप से निर्धारित अंतर है.

(ii) जेंडर एक जैविक अंतर है जबकि यौन (सेक्स) पुरुष और महिलाओं के बीच सामाजिक रुप से निर्धारित अंतर है

. (iii) जेंडर और यौन में कोई अंतर नहीं है.

(iv) कोई भी नहीं.

4 निम्नलिखित में से कौन कथन लड़कियों/महिलाओं के बारे में एक जेंडर स्टीरियोटाइप नहीं है?

(i) लड़कियां/महिलाएं बातूनी होती हैं.

(ii) लड़कियां/महिलाओं को पतली और सुंदर होना चाहिए.

(iii) लड़कियां/महिलाएं खराब निर्णय लेने वाली होती हैं.

(iv) लड़कियों महिलाओं के पास नेतृत्व कौशल है और वह किसी भी पेशे में उत्कृष्टता प्राप्त कर सकती हैं.

5 निम्नलिखित में से कौन सा गुण लड़के लड़कों और लड़कियों दोनों के लिए सही है?

(i) भावुक

(ii) सभी

(iii) स्वतंत्र

(iv) मेहनती

6.निम्नलिखित में से कौन सा कथन लड़कों/पुरुषों के बारे में एक जेंडर स्टीरियोटाइप नहीं है?

(i) लड़के/पुरुष बच्चे पैदा करने के साथ साथ के साथ-साथ खाना भी बना सकते हैं.

(ii) लड़का/पुरुष परिवार के पालनकर्ता हैं.

(iii) लड़कों/पुरुषों को रोना नहीं चाहिए

(iv) लड़के/ पुरुष बेहतर चालक होते हैं.

7 निम्नलिखित में से कौन सा वाक्य सही है?

(i) लड़के और लड़कियों के साथ बराबरी का व्यवहार किया जाना चाहिए

(ii) महिलाओं का स्थान घर है.

(iii) लड़के लड़कियों से अधिक मेहनती होते हैं

(iv) लड़कियों को स्कूल नहीं भेजा जाना चाहिए वह शादी के लिए बनी हैं.

8 निम्नलिखित में से कौन सा कथन जेंडर मिथक नहीं है,पहचाने

(i) लड़के तर्कशील होते हैं और लड़कियां तर्कहीन होती हैं.

(ii) मेन्स्टुएशन के दौरान लड़कियों को रसोई में प्रवेश नहीं करना चाहिए.

(iii) लड़कों और लड़कियों के बीच जैविक अंतर उनकी संज्ञानात्मक क्षमताओं से संबंधित नहीं है.

(iv) लड़कों के लिए विज्ञान और तकनीक है

9 जेंडर के बारे में निम्नलिखित में से क्या सही नहीं है?

(i) जेंडर महिलाओं पुरुष और ट्रांसजेंडर के बीच एक सामाजिक रूप से निर्मित अंतर है.

(ii) कोई भी नहीं

(iii) जेंडर सम्बन्ध समय के साथ और लोगों के विभिन्न समूह के बीच भिन्न होते हैं.

(iv) जेंडर पुरुषों, महिलाओं और ट्रांसजेंडर के बीच जैविक अंतर को दर्शाता है.

10 निम्नलिखित में से कौन सा कार्य लिंग भेद को नहीं दर्शात है?

(i) बंटी और उसके दोस्त आमतौर पर टॉय कार और टॉय ग के साथ खेलते हैं.

(ii) शारदा अपना ज्यादातर समय रसोई में खाना बनाने में

बिताती है.

(iii) शेफाली पर्वतारोही बनने के लिए प्रशिक्षण ले रही है.

 

For more information

Join us TELEGRAM

(iv) परिवार की रोटी कमाने वाला होने के कारण रोहित अप परिवार के लिए सभी फैसले लेता है.

 

निष्ठा (NISHTHA) प्रशिक्षण आपके ब्लाक,स्कूल पर किसने किसने पूरा कर लिया ऐसे चेक करें

Nishtha logo

Check your nishtha traning status

Nishtha(निष्ठा)माड्यूल प्रशिक्षण 2 लिंक,PDF,प्रश्नोत्तरी हल

NISHTHA कोर्स-2 UP_स्वस्थ विद्यालयी परिवेश निर्मित करने के लिए व्यक्‍त‍िगत-सामाजिक योग्यता विकसित करना (उत्तर प्रदेश)

on DIKSHA at https://diksha.gov.in/explore-course/course/do_3131313859664363521329?referrer=utm_source%3Ddiksha

आप इस लिंक के माध्यम से DIRECT प्रशिक्षण माड्यूल पर पहुंच जायेंगे ।

nishtha

इस मॉड्यूल(Nishtha) को पढ़ने के बाद, आप निम्नलिखित को करने में सक्षम होंगे

* व्यक्तिगत-सामाजिक गुणों के बारे में समझ विकसित करने में;

* स्वयं के व्यक्तिगत-सामाजिक गुणों पर विचार करने के साथ शिक्षार्थियों में उन्हीं गुणों का विकास करने में;

* कक्षा में मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए आवश्यक गुणों और कौशलों का विकास करने में;

विद्यालयों/कक्षाओं में एक ऐसा परिवेश निर्मित करने में, जहाँ सभी विद्यार्थी स्वीकार्य महसूस करें, उनमें आत्मविश्वास जगे,

वे यह महसूस करें कि उनका ध्यान रखा जा रहा है और वे एक-दूसरे की भलाई के लिए तत्पर हों।

विद्यालय के वे अवसर जहाँ व्यक्तिगत- सामाजिक योग्यता का पोषण किया जा सकता है।

  1. पाठ्यक्रम

      2.विद्यालय की विभिन्न गतिविधियाँ

      3.पूर्व व्यावसायिक शिक्षा

Nishtha module 2 गतिविधि first के answers

1.स्वयं और दूसरों के विचारों और भावनाओं के प्रति सत्य और

ईमानदार होने की क्षमता

नहीं

हाँ ✔️

भरोसेमंद होना काफी हद तक इस पर आधारित है

1.विद्यार्थियों को उनके निर्देशों के अनुसार बनाने की क्षमता है

नहीं ✔️

हाँ

2.विद्यार्थियों के व्यवहार के बारे में मत और विचार

नहीं✔️

हाँ

Nishtha module 2 प्रश्नोत्तरी

Please attention :प्रश्नोत्तर के क्रम अदल बदल सकते हैं,उत्तरों के क्रम भी बदल सकते है।सवाल हल करते समय ध्यान दें।

Read more

निष्ठा राष्ट्रव्यापी प्रशिक्षण कार्यक्रम के मुख्य अंश,इस तरह पूर्ण करें, शिक्षक प्रशिक्षण को फॉरवर्ड करने से बचें, नहीं तो कार्यवाही निश्चित

अत्यंत महत्वपूर्ण:- निष्ठा राष्ट्रव्यापी प्रशिक्षण कार्यक्रम के मुख्य अंश

निष्ठा प्रशिक्षण लिंक

1 – निष्ठा प्रशिक्षण के अंतर्गत कुल 18 कोर्स होंगे जो 16 अक्टूबर 2020 से 15 जनवरी 2021 तक चलेंगे ।


2 – 15-15 दिवस की अवधि मेंतीन-तीन कोर्स /माड्यूल आएंगे, जिसे निर्धारित 5 दिवस की अवधि में ही पूर्ण करना अनिवार्य होगा।

  •    एक बार जो कोर्स छूट गया उसे निर्धारित 15 दिन के बाद पूरा नहीं कर पाएंगे। अतः निर्धारित समय सीमा में कोर्स अवश्य पूरा करें।

Nishtha

सभी शिक्षक/शिक्षामित्र/ अनुदेशक दीक्षा पोर्टल के माध्यम से निष्ठा प्रशिक्षण प्राप्त करना है

  • . एक माड्यूल के लिए 5 दिन का समय निर्धारित है

 

  • .हर module के पूरा करने पर एक क्विज होगा । जिसमें 60% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।

 

  • निर्धारित 18 module पूरा होने पर एक Assessment होगा ।

 

  •  Certificate पर वही नाम आयेगा जो आप ने Diksha app login करते समय दिया है ।

 

  • Course complete होने पर भी यदि indicate न होता हो तो कृपया प्रतीक्षा करें ।

 

  • Certificate एक सप्ताह के अंदर आयेगा ।

 

दीक्षा(Diksha) एप से प्रशिक्षण Certificate खुद कैसे करेंDOWNLOAD


3 – सभी 18 कोर्स दीक्षा एप पर आएंगे, जिसकी लिंक जिला ARP के माध्यम से शिक्षकों तक पहुचेंगी।


4 – प्रत्येक कोर्स की अवधि 3 से 4 घण्टे की होगी अतः समय प्रबंधन कर पूर्ण करें।


5 – 5 या 6 कोर्स पेडोगोजी से संबंधित हैं,बाकी सामान्य विषयों पर रहेंगे। जो इस प्रकार से हैं:-

  1. जेनेरिक विषय – 3
  2. शैक्षणिक रणनीतियां – 3
  3. विशिष्ट शिक्षा शास्त्र – 6
  4. स्कूल नेतृत्व – 6

6 – कोर्स करते समय आप एक डायरी तैयार कर लें और हर कोर्स के महत्वपूर्ण बिंदु भी नोट करते जाएँ।


7- यह अत्यन्त महत्वपूर्ण होगा कि प्रत्येक कोर्स से क्या सीखा, उसे अपने बच्चों और कक्षा तक कैसे ले जाएंगे?


8 – प्रत्येक कोर्स के बाद एक पोस्ट टेस्ट आयोजित होगा और सभी 18 कोर्स करने के पश्चात जनवरी 2021में आनलाइन कम्पीटेंसी टेस्ट आयोजित होगा जिसमें 60% से अधिक अंक लाना अनिवार्य है।

ऑनलाइन कंपीटेंसी टेस्ट में न्यूनतम 60% अंक प्राप्त करने वाले को ही “निष्ठा प्रशिक्षण प्राप्त करने का प्रमाण पत्र एनसीईआरटी दिल्ली द्वारा प्रदान किया जाएगा।


9 – कोर्स करने से जो भी ज्ञान या कौशल आप प्राप्त करेंगे, उनका प्रयोग कक्षाओं में करने से ही लर्निंग आउट कम्स प्राप्त होंगे ।


10 – सभी 18 कोर्स पूर्ण होने के बाद इनकी E-सर्विस बुक में होगी।

निष्ठा(nishtha) प्रशिक्षण माड्यूल:कब,कैसे पूरा करें प्रशिक्षण?प्रश्नों के उत्तर सहित

11- जो लोग वीडियो फारवर्ड कर कोर्स निर्धारित समय के पूर्व कर लेते हैं, ऐसे शिक्षकों की संख्या 6 से 10 प्रतिशत है और अगर निष्ठा कोर्स में भी ऐसा किया जाता है तो उन शिक्षकों पर कार्यवाही होगी। 


12 – कोर्स पूरा करने में जो डाटा कन्ज्यूम होगा उसके लिए प्रत्येक शिक्षक के खाते में धनराशि भेजी जायेगी ।


13 – भविष्य में इन 18 कोर्स करने की समीक्षा की जायेगी व इनके परिणाम के आधार पर आपका भविष्य तय होगा। अतः इसे गंभीरता से लें।


14- यह कोर्स जिले में पदस्थ सभी मॉनिटरकर्ता अधिकारी व कक्षा 1 से 8 तक पढ़ाने वाले सभी प्रधानाध्यापकों व शिक्षकों के लिए अनिवार्य है।


15- जिले में डाइट प्राचार्य इस कार्यक्रम के नोडल अधिकारी रहेंगे तथा तकनीकी नोडल अधिकारी SRG होगें


16 – कोर्स से सम्बंधित कोई भी परेशानी आने पर आप इनमें से किसी भी नोडल अधिकारी अथवा ब्लॉक के MIS कोआर्डिनेटर से सम्पर्क कर ले

जो विकासखंड के तकनीकी नोडल अधिकारी हैं। इसके लिए आपको एक ई मेल आईडी भी प्राप्त होगी जिस पर आप अपनी समस्या भेज सकते हैं।

New Diksha Course:बच्चों की बातचीत


अत: आप सभी से अनुरोध है, कि आप इन 18 कोर्स को समय पर पूर्ण करें व इनसे सीखें और अपनी कक्षा में अध्ययनरत बच्चों के सीखने सिखाने की प्रक्रिया में इनका उपयोग करें।