अंतर्जनपदीय स्थानांतरण हेतु साइट अपडेट हो गयी है आवेदन अपूर्ण वाले/प्रत्यावेदन अभ्यर्थी आवेदन पत्र संशोधित करें

transfer fraud

आवेदन पत्र संशोधन


Click here

Official website ➡️ Click here

आवेदन पत्र संशोधन 3 october 2020 तक किए जा सकेगें।
  1. आवेदन पत्र अन्तिम रुप से OTP के माध्यम से Submit किया जाएगा ।
  2. संशोधन उपरांत SUBMIT करना न भूलें।
  3. यदि किसी शिक्षक ने ऑनलाइन आवेदन दो चरणों में किया है यानी पहले चरण में रजिस्ट्रेशन व दूसरे चरण में आवेदन हुआ तो दूसरे चरण में की गई प्रविष्टियों के बदलाव होगें। रजिस्ट्रेशन के पत्र में किसी तरह का बदलाव नहीं होगा।

अंतर्जनपदीय तबादला :

तबादला आवेदन मेडिकल रिपोर्ट अस्वीकार होने पर निरस्त नहीं, जिलों में गठित समिति को शिक्षक दे सकेंगे दावे और आपत्ति, 24 से 28 सितंबर तक होगा निस्तारण

बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों का अंतर जिला तबादला आदेश 15 अक्टूबर को जारी होगा। परिषद ने शिक्षकों को इस बार तमाम सहूलियत दी हैं। सामान्य स्थिति में अब उनका आवेदन निरस्त नहीं होगा।

परिषद सचिव प्रताप सिंह बघेल ने सभी जिलों को निर्देश जारी कर दिया है। शिक्षक की जांच में यदि उनकी मेडिकल रिपोर्ट अस्वीकार हो जाती है तो भी उनका आवेदन निरस्त नहीं होगा, बल्कि उसे रिसेट किया जाएगा। बीएसए बैठक की सूचना शिक्षकों को भी देंगे, ताकि उनके उपस्थित होने का मौका मिले। 

अन्तर्जनपदीय तबादलाआवेदन में कर सकेंगे बदलाव


वेबसाइट पर हुए आवेदन में शिक्षक बदलाव भी कर सकते हैं। शिक्षकों के दावे व आपत्तियों के लिए निस्तारण के लिए हर जिले में डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में समिति बनी है। मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक व बीएसए सदस्य होंगे। एडी बेसिक मंडल के सभी जिलों के लिए समय सारिणी तय करेगा।


अन्तर्जनपदीय तबादला प्रत्यावेदन

शिक्षकों के प्रत्यावेदन, आपत्ति आदि पंजिका में दर्ज होंगे। यह कार्य जिले के वरिष्ठ बीईओ करेंगे, शिक्षक को प्राप्ति रसीद मिलेगी। समिति से निस्तारण की सूचना परिषद को भेजी जाएगी।
यदि शिक्षक की ओर से दावा किया जाता है कि उसने तबादला आवेदन में गलती से दिव्यांग, गंभीर बीमार, पति पत्नी दोनों सरकारी सेवा में हैं आदि का त्रुटिवश विकल्प चुना है तो उस विकल्प को हटाकर ऐसे आवेदन रिसेट किया जाएगा।

इसे फिर से ओटीपी के माध्यम से सबमिट किया जाएगा। यदि बीएसए ने किसी शिक्षक के आवेदन को गलती से असत्यापित या निरस्त कर दिया है ता ऐसे प्रकरणों को समिति के समक्ष प्रस्तुत करके अनुमान लेकर कार्रवाई की जाएगी।

यदि किसी शिक्षक ने ऑनलाइन आवेदन दो चरणों में किया है यानी पहले चरण में रजिस्ट्रेशन व दूसरे चरण में आवेदन हुआ तो दूसरे चरण में की गई प्रविष्टियों के बदलाव पर समिति विचार करेगी। रजिस्ट्रेशन के पत्र में किसी तरह का बदलाव नहीं होगा। समिति के निर्णय की कार्यवाही समय सारिणी के अनुसार वेबसाइट पर प्रदर्शित की जाएगी।

Manav sampda portal नही है सुरक्षित ! – UP STF

एसटीएफ ने प्रदेश में Manav sampda portal (मानव संपदा पोर्टल) का दुरुपयोग कर शिक्षकों से वसूली करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया। इनके पास से 8 लाख 60 हजार रुपये नकद मिले हैं। । गिरोह का मुखिया बाराबंकी निवासी यदुनंदन यादव (फर्जी नाम : प्रमोद कुमार सिंह)है।

उसके साथी सत्यपाल यादव और प्रमोद कुमार यादव (फर्जी नाम : आशीष कुमार सिंह) यहां एक अन्य शिक्षक से वसूली करने आए थे।

Manav sampda portal से धांधली

गिरफ्तार यदुनंदन यादव ने पूछताछ के दौरान मानव संपदा पोर्टल से धांधली के समबन्ध मे बताया कि मानव सम्पदा पोर्टल (Manav Sampda portal) के पब्लिक विंडो का इस्तेमाल कर प्रमाणपत्रो/marksheet से Deatils जानकर वसूली करता था।

अगर उसे वहाँ शिक्षक/शिक्षिका का मोबाइल नम्बर नही मिल पाता तो उनके जनपद पोर्टल से ग्राम प्रधान के नम्बर पर सम्पर्क कर शिक्षक/शिक्षिका का मोबाइल नंबर ले लेता था

फिर उनके नंबर पर संपर्क कर बताता था कि मैं मानव सम्प़दा पोर्टल का अधिकारी बोल रहा हूँ।आपकी तथाकथित गडबडी/फर्जी मार्कशीट सही करा दूगा।

एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में फर्जी मार्कशीट/डिग्री के आधार पर विद्यालयों में शिक्षक के पद पर नौकरी करने वालों को लेकर सूचना मिल रही थी।

स मामले के पुलिस की जिम्मेदारी एसटीएफ के एएसपी सत्यसेन यादव को सौंपी गई थी। एसटीएफ को पता चला कि प्रमोद उर्फ यदुनंदन यादव बाराबंकी में एक फर्जी शिक्षक है और मानव संपदा पोर्टल का दुरुपयोग कर अपने गैंग के जरिये धांधली कर लोगों से पैसे इकट्ठा कर रहा है।

सोमवार को उसके वेब सिनेमा स्थित पराग बूथ पर आने की सूचना मिली। इस पर वहां से तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया एसटीएफ की पूछताछ में यदुनंदन ने बताया कि प्रमोद कुमार सिंह के नाम से प्राथमिक विद्यालय, ककराहा ब्लॉक बन्नी कोडर, बाराबंकी में सहायक अध्यापक के पद पर नौकरी कर रहा है।

 

परिषदीय शिक्षकों के अन्तर्जनपदीय स्थानांतरण 2020,interdistrict transfer latest news,Check your transfer staus

basic education department के अध्यापकों को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को बड़ी राहत दी है।

JHANSI(झांसी) : स्थानान्तरित जनपद में कार्यमुक्त किये जाने से पूर्व उसी पद अथवा पदानवत किये जाने के सम्बन्ध में जनपदों में अद्यतन तक की गयी पदोन्नति की दिनांक की जानकारी के सम्बन्ध में।

बाराबंकी

: स्थानान्तरित जनपद में कार्यमुक्त किये जाने से पूर्व उसी पद अथवा पदानवत किये जाने के सम्बन्ध में जनपदों में अद्यतन तक की गयी पदोन्नति की दिनांक की जानकारी के सम्बन्ध में

जालौन

:- अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण 2019 -20 के फलस्वरूप अध्यापकों को स्थानान्तरित जनपद में कार्यमुक्त किये जाने सेपूर्व उसी पद अथवा पदावनत किये जाने के सम्बन्ध में जनपदों में अघतन तक की गयी पदोन्नति की दिनांक की जानकारी के सम्बन्ध मे

⇒सीएम ने अंतर्जनपदीय तबादलों पर लगी रोक हटा दी है।अब टीचरों के एक जिले से दूसरे जिले में ट्रांसफर हो सकेंगे।
इस बार यह तबादले ऑनलाइन होने हैं, लॉकडाउन के चलते यह प्रक्रिया रोक दी गई थी।

→basic education department के एक लाख से अधिक शिक्षकों ने ट्रांसफर के लिए आवेदन किए थे, इनमें से 45000 अध्यापकों के ट्रांसफर होंगे।
बताया जा रहा है कि सीएम के इस आदेश के बाद महिला शिक्षकों, दिव्यांगों गंभीर रूप से बीमार शिक्षकों को वरीयता दी जाएगी। https://twitter.com/CMOfficeUP/status/1307587794605281280?s=19

  1. बता दें कि योगी सरकार ने लॉकडाउन से पहले शिक्षकों की ट्रांसफर पॉलिसी में बदलाव किया था।
  2. नई पॉलिसी के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग(basic education department) में शिक्षकों के ट्रांसफर के लिए 5 साल की समय सीमा को घटाकर 3 साल कर दिया गया था।
  3. सरकार ने महिलाओं को बड़ी राहत दी थी। उनके लिए तबादले की समय सीमा को सिर्फ 1 साल किया गया था।
  4. सरकार ने फौजियों की पत्नी को ट्रांसफर में प्राथमिकता देना निश्चित किया था। इसके अलावा गंभीर रूप से पीड़ित शिक्षकों को भी तबादले में सुविधा देने की बात कही था।


ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से प्राप्त आवेदनों के आधार पर बेसिक शिक्षा विभाग के(Basic education department) 28,306 शिक्षिकाओं तथा 25,814 शिक्षकों, कुल 54,120 शिक्षकों का स्थानांतरण किया गया है।
मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर स्थानांतरण प्रक्रिया में विशेष प्राथमिकता के आधार पर

  • असाध्य/गंभीर रोगों से ग्रसित 2,186,
  • दिव्यांग श्रेणी के 2,285
  • सैन्य सेवाओं से जुड़े 917 शिक्षक/शिक्षिकाओं

    का स्थानांतरण किया गया है।

Check transfer status

Click here

स्थानांतरण अपडेट (transfer status)

⭕कुल आवेदन = 70838
⭕निरस्त = 16000 से अधिक(20फरवरी तक)
⭕ शेष = 54123
⭕45000 जनरल + 9000 म्यूच्यूअल ट्रांसफर

Read more