humanity

उत्तर प्रदेश में बिना मास्क के किसी भी हिस्से में निकले तो क़ानूनी कारवाई होगी.

up government

मानवाधिकार दिवस क्यों? थानेदार दिवस क्यों नहीं?

कभी थानेदार या दरोगा दिवस नहीं मनाते हैं। पहलवान दिवस भी नहीं मनाते और न ही दिवस मनाते हैं।   परसाईं जी पहले ही कह चुके हैं कि ‘दिवस’ हमेशा कमज़ोरों के मनाए जाते हैं। जैसे- मज़दूर दिवस, बाल दिवस, महिला दिवस, हिंदी दिवस या पर्यावरण दिवस। हम ऐसे दिन के माध्यम से स्वयं को …

मानवाधिकार दिवस क्यों? थानेदार दिवस क्यों नहीं? Read More »