अंतर्जनपदीय स्थानांतरण हेतु साइट अपडेट हो गयी है आवेदन अपूर्ण वाले/प्रत्यावेदन अभ्यर्थी आवेदन पत्र संशोधित करें

transfer fraud
Spread the love

आवेदन पत्र संशोधन


Click here

Official website ➡️ Click here

आवेदन पत्र संशोधन 3 october 2020 तक किए जा सकेगें।
  1. आवेदन पत्र अन्तिम रुप से OTP के माध्यम से Submit किया जाएगा ।
  2. संशोधन उपरांत SUBMIT करना न भूलें।
  3. यदि किसी शिक्षक ने ऑनलाइन आवेदन दो चरणों में किया है यानी पहले चरण में रजिस्ट्रेशन व दूसरे चरण में आवेदन हुआ तो दूसरे चरण में की गई प्रविष्टियों के बदलाव होगें। रजिस्ट्रेशन के पत्र में किसी तरह का बदलाव नहीं होगा।

अंतर्जनपदीय तबादला :

तबादला आवेदन मेडिकल रिपोर्ट अस्वीकार होने पर निरस्त नहीं, जिलों में गठित समिति को शिक्षक दे सकेंगे दावे और आपत्ति, 24 से 28 सितंबर तक होगा निस्तारण

बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों का अंतर जिला तबादला आदेश 15 अक्टूबर को जारी होगा। परिषद ने शिक्षकों को इस बार तमाम सहूलियत दी हैं। सामान्य स्थिति में अब उनका आवेदन निरस्त नहीं होगा।

परिषद सचिव प्रताप सिंह बघेल ने सभी जिलों को निर्देश जारी कर दिया है। शिक्षक की जांच में यदि उनकी मेडिकल रिपोर्ट अस्वीकार हो जाती है तो भी उनका आवेदन निरस्त नहीं होगा, बल्कि उसे रिसेट किया जाएगा। बीएसए बैठक की सूचना शिक्षकों को भी देंगे, ताकि उनके उपस्थित होने का मौका मिले। 

अन्तर्जनपदीय तबादलाआवेदन में कर सकेंगे बदलाव


वेबसाइट पर हुए आवेदन में शिक्षक बदलाव भी कर सकते हैं। शिक्षकों के दावे व आपत्तियों के लिए निस्तारण के लिए हर जिले में डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में समिति बनी है। मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक व बीएसए सदस्य होंगे। एडी बेसिक मंडल के सभी जिलों के लिए समय सारिणी तय करेगा।


अन्तर्जनपदीय तबादला प्रत्यावेदन

शिक्षकों के प्रत्यावेदन, आपत्ति आदि पंजिका में दर्ज होंगे। यह कार्य जिले के वरिष्ठ बीईओ करेंगे, शिक्षक को प्राप्ति रसीद मिलेगी। समिति से निस्तारण की सूचना परिषद को भेजी जाएगी।
यदि शिक्षक की ओर से दावा किया जाता है कि उसने तबादला आवेदन में गलती से दिव्यांग, गंभीर बीमार, पति पत्नी दोनों सरकारी सेवा में हैं आदि का त्रुटिवश विकल्प चुना है तो उस विकल्प को हटाकर ऐसे आवेदन रिसेट किया जाएगा।

इसे फिर से ओटीपी के माध्यम से सबमिट किया जाएगा। यदि बीएसए ने किसी शिक्षक के आवेदन को गलती से असत्यापित या निरस्त कर दिया है ता ऐसे प्रकरणों को समिति के समक्ष प्रस्तुत करके अनुमान लेकर कार्रवाई की जाएगी।

यदि किसी शिक्षक ने ऑनलाइन आवेदन दो चरणों में किया है यानी पहले चरण में रजिस्ट्रेशन व दूसरे चरण में आवेदन हुआ तो दूसरे चरण में की गई प्रविष्टियों के बदलाव पर समिति विचार करेगी। रजिस्ट्रेशन के पत्र में किसी तरह का बदलाव नहीं होगा। समिति के निर्णय की कार्यवाही समय सारिणी के अनुसार वेबसाइट पर प्रदर्शित की जाएगी।
Spread the love

Comments

  1. Pingback: What's about NISHTHA TRANING(निष्ठा प्रशिक्षण):Online training -

thanks

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.