Basic shiksha parishad avkash talika 2021

विद्यालय रजिस्टर
Spread the love

परिषदीय विद्यालयों की अवकाश तालिका वर्ष 2020 जारी

बेसिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश अवकाश तालिका 2020

बेसिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका 2021 PDF

बेसिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका 2020 PDF

बेसिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका २०२० पीडीऍफ़

हलषष्ठी / ललई छठ, जीउतिया व्रत का अवकाश केवल अध्यापिकाओं / बालिकाओं के लिये देय होगा। 

👉 देखें 4 क्रमांक पर दी गयी टिप्पणी

नोट:- हलषष्ठी / ललई छठ पूजन व व्रत इस बार 28 अगस्त दिन शनिवार को है।

बेसिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका 2020 21

माध्यमिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका 2020

बेसिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका 2021-22

परिषदीय विद्यालय अवकाश तालिका 2021

महिला अवकाश तालिका २०२०

महिला अवकाश तालिका 2020

महिला अवकाश 2020

परिषदीय विद्यालय की अवकाश तालिका 2021

basic shiksha parishad holiday list 2021

basic shiksha parishad holiday list 2021 pdf download

Follow us


Spread the love

UP Teachers Transfer list : 50 हजार से अधिक शिक्षक तबादला सूची से बाहर, मात्र 21695 की मनोकामना हुई पूरी

Spread the love

Spread the love21,695 सहायक अध्यापकों की अंतर्जनपदीय तबादला सूची जारी, 69 हजार ने किया था आवेदन UP Primary Teacher Transfer List 2020 Latest News 9 हजार से अधिक शिक्षकों के पारस्परिक तबादले की सूची जारी होना अभी शेष नए साल के मौके पर उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर जिला तबादले का इंतजार पूरा … Read more


Spread the love

Teacher transfer:परिषदीय शिक्षकों के साल में दो बार होंगे पारस्परिक तबादले, जिले के अंदर तबादले का प्रस्ताव प्रेषित

Transfer
Spread the love

Spread the loveजिले में शिक्षकों के साल में दो बार होंगे तबादले “Transfer of teachers inside the district” बेसिक शिक्षा परिषद के सहायक अध्यापकों के जिले के अंदर एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक और एक नगर निकाय क्षेत्र से दूसरे निकाय क्षेत्र में तबादले जल्द किए जाएंगे। विभाग ने इसकी नीति बनानी शुरू कर दी … Read more


Spread the love

Teacher training Course : Mission PRERNA

Spread the love

Spread the loveMission Prerna शिक्षक प्रशिक्षण (Teacher training) कोर्सेज का कैलेंडर मिशन प्रेरणा के अंतर्गत शैक्षिक सुधारों से सम्बंधित शिक्षक प्रशिक्षण कोर्सेज का कैलेंडर आपके साथ साझा किया जा रहा है। यह सभी कोर्सेज दीक्षा प्लेटफार्म पर उपलब्ध हैं। इस कैलेंडर से सम्बंधित कुछ प्रमुख जानकारी नीचे दी गयी है: 1. इसमें कुल 25 कोर्सेज … Read more


Spread the love

परिषदीय विद्यालयों मे नवीन अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण समयसारिणी जारी,30 दिसम्बर को जारी होगी नयी सूची

Spread the love

 माननीय उच्च न्यायालय में योजित याचिका संख्या-878/2020 श्रीमती दिव्या गोस्वामी बनाम उ0प्र0 राज्य व अन्य में पारित आदेश दिनांक 03.11.2020 एवं 03.12.2020 के अनुपालन में

बेसिक शिक्षा : कोर्ट के आदेश के बाद शिक्षिकाओं को अन्तर्जनपदीय तबादले के लिए मिला दूसरा अवसर, 18 दिसंबर कर सकेंगी ऑनलाइन आवेदन, 30 दिसम्बर को होगा सूची का प्रकाशन

परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत अध्यापकों हेतु अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण की कार्यवाही की जा रही है।

• महिला अध्यापिका जिनके द्वारा विवाह पूर्व स्थानान्तरण का लाभ लिया गया है तथा असाध्य रोग से ग्रसित अध्यापक/अध्यापिकाओं जिनके द्वारा ऑनलाइन आवेदन प्रस्तुत नहीं किया गया है से पुनः आवेदन पत्र प्राप्त किया जायेगा।

अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण प्रकियायूपी में बड़े स्तर पर ट्रांसफर की तैयारी, 72 हजार शिक्षकों के हो सकते हैं तबादले

  • सरकारी प्राइमरी स्कूलों में 72 हजार से ज्यादा ऐसे शिक्षक हैं, जो सरप्लस हैं। सरप्लस यानी कि वहां तैनात हैं, जहां उनकी जरूरत ही नहीं।

शिक्षा का अधिकार कानून लागू हुए नौ साल से ऊपर हो गया लेकिन अब भी आरटीई के मानकों के मुताबिक शिक्षकों की तैनाती स्कूलवार नहीं हो पाई है।

अब बेसिक शिक्षा विभाग इन सरप्लस शिक्षकों को पहले अंतरजनपदीय तबादले और इसके बाद जिलों में तबादलों व समायोजन के जरिए मानकों के मुताबिक तैनाती करने की मशक्कत कर रहा है।

 

इसमें ऑनलाइन व्यवस्था मददगार साबित हो सकती है क्योंकि विभाग में सरप्लस शिक्षकों का मुद्दा नया नहीं है। केंद्र सरकार ने यूपी के सरकारी स्कूलों में तैनात 72,353 शिक्षकों को सरप्लस बताते हुए कहा है कि इनकी तैनाती नियमों के मुताबिक की जाए।

आरटीई के मानकों के मुताबिक कक्षा एक से 5 तक 30 बच्चों पर एक शिक्षक का नियम है। वहीं जूनियर स्कूलों में 35 बच्चों पर एक शिक्षक का नियम बनाया गया है, लेकिन प्रदेश में कई स्कूल ऐसे हैं, जहां शिक्षक तो 6-7 तैनात हैं लेकिन बच्चे 100 से ज्यादा नहीं है।

ज्यादातर शहरी स्कूलों और शहर से सटे ग्रामीण स्कूलों में शिक्षकों की संख्या ज्यादा है। जब प्रदेश में आरटीई लागू हुआ तो स्कूलों में नामांकन का खेल चलने लगा।

एक ही बच्चा आसपास के सभी स्कूलों में पंजीकृत किया जाने लगा। इससे निपटने के लिए सरकार ने नामांकित बच्चों की जगह मिड डे मील खाने वाले बच्चों की संख्या के मुताबिक तैनाती का नियम बनाया लेकिन अनुपात सही करने में विभाग असफल रहा है।

इससे पहले भी सरप्लस शिक्षकों का मुद्दा उठता रहा है लेकिन विभाग लाख कोशिशों के बाद भी इसे सही नहीं कर पा रहा है

              क्योंकि भर्तियों के समय बागपत का अभ्यर्थी भी श्रावस्ती में नियुक्ति ले लेता है लेकिन तीन साल बाद जोर-जुगाड़ के सहारे वह अपने जिले में तबादला लेकर पहुंच जाता है। इसके चलते हमेशा असंतुलन की स्थिति बनी रहती है।

अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण प्रकिया मे निम्नलिखित समय सारिणी के अनुरूप वेबसाइट upbasiceduparishad.gov.in पर सम्पादित की जायेगी।

माननीय उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के क्रम में ऑनलाइन आवेदन पत्र /रजिस्ट्रेशन आवेदन

कार्यवाही का विवरण दिनांक

आनलाइन आवेदन/Bsa office पर सबमिट करना

18/12/2020. से

21/12/2020

जनपद स्तर पर काउंसलिंग/

आनलाइन सत्यापन

22/12/2020 से 24/12/2020
बी०एस०ए० द्वारा काउन्सिलिंग के उपरान्त डाटा लॉक किया जाना

26/12/2020

 

सूची का प्रकाशन : 30/12/2020

Follow us  Twitter

                 Telegram


Spread the love

Income (इनकम) Tax से आया 143 (1) नोटिस? घबराएं नहीं- समझिए क्या है मतलब और कैसे दें जवाब?

Spread the love

Spread the loveआयकर विभाग भेज रहा है टैक्स नोटिस, अब करना होगा ये काम! इनकम टैक्स डिपार्टमेंट पिछले कुछ दिनों से लोगों को लोगों को इनकम टैक्स की धारा 143(1) के तहत नोटिस भेजा जा रहा है. इस तरह के नोटिस के बाद कई लोग घबरा गए है. आइए जानें इससे जुड़े सभी सवालों के … Read more


Spread the love

नये शासनादेशानुसार जानें विद्यालय अभिलेख रजिस्टर के बारे में, समझिये कितने तरह की और कौन कौन सी होंगीं पंजिकाएँ परिषदीय विद्यालयों में?

Spread the love

Spread the loveपरिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों के ऊपर से रजिस्टरों के रख रखाव का बोझ कम किया जा रहा है। उन्हें अब 40 की बजाए मात्र 14 रजिस्टर रखने होंगे। यह कदम विद्यालयो में शिक्षकों द्वारा शिक्षण में बच्चों को अधिक समय देने के उद्देश्य से उठाया जा रहा है। बेसिक शिक्षाधिकारी की तरफ से … Read more


Spread the love

निष्ठा (NISHTHA) प्रशिक्षण आपके ब्लाक,स्कूल पर किसने किसने पूरा कर लिया ऐसे चेक करें

Nishtha logo
Spread the love

Check your nishtha traning status


Spread the love

निष्ठा राष्ट्रव्यापी प्रशिक्षण कार्यक्रम के मुख्य अंश,इस तरह पूर्ण करें, शिक्षक प्रशिक्षण को फॉरवर्ड करने से बचें, नहीं तो कार्यवाही निश्चित

Spread the love

अत्यंत महत्वपूर्ण:- निष्ठा राष्ट्रव्यापी प्रशिक्षण कार्यक्रम के मुख्य अंश

निष्ठा प्रशिक्षण लिंक

1 – निष्ठा प्रशिक्षण के अंतर्गत कुल 18 कोर्स होंगे जो 16 अक्टूबर 2020 से 15 जनवरी 2021 तक चलेंगे ।


2 – 15-15 दिवस की अवधि मेंतीन-तीन कोर्स /माड्यूल आएंगे, जिसे निर्धारित 5 दिवस की अवधि में ही पूर्ण करना अनिवार्य होगा।

  •    एक बार जो कोर्स छूट गया उसे निर्धारित 15 दिन के बाद पूरा नहीं कर पाएंगे। अतः निर्धारित समय सीमा में कोर्स अवश्य पूरा करें।

Nishtha

सभी शिक्षक/शिक्षामित्र/ अनुदेशक दीक्षा पोर्टल के माध्यम से निष्ठा प्रशिक्षण प्राप्त करना है

  • . एक माड्यूल के लिए 5 दिन का समय निर्धारित है

 

  • .हर module के पूरा करने पर एक क्विज होगा । जिसमें 60% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।

 

  • निर्धारित 18 module पूरा होने पर एक Assessment होगा ।

 

  •  Certificate पर वही नाम आयेगा जो आप ने Diksha app login करते समय दिया है ।

 

  • Course complete होने पर भी यदि indicate न होता हो तो कृपया प्रतीक्षा करें ।

 

  • Certificate एक सप्ताह के अंदर आयेगा ।

 

दीक्षा(Diksha) एप से प्रशिक्षण Certificate खुद कैसे करेंDOWNLOAD


3 – सभी 18 कोर्स दीक्षा एप पर आएंगे, जिसकी लिंक जिला ARP के माध्यम से शिक्षकों तक पहुचेंगी।


4 – प्रत्येक कोर्स की अवधि 3 से 4 घण्टे की होगी अतः समय प्रबंधन कर पूर्ण करें।


5 – 5 या 6 कोर्स पेडोगोजी से संबंधित हैं,बाकी सामान्य विषयों पर रहेंगे। जो इस प्रकार से हैं:-

  1. जेनेरिक विषय – 3
  2. शैक्षणिक रणनीतियां – 3
  3. विशिष्ट शिक्षा शास्त्र – 6
  4. स्कूल नेतृत्व – 6

6 – कोर्स करते समय आप एक डायरी तैयार कर लें और हर कोर्स के महत्वपूर्ण बिंदु भी नोट करते जाएँ।


7- यह अत्यन्त महत्वपूर्ण होगा कि प्रत्येक कोर्स से क्या सीखा, उसे अपने बच्चों और कक्षा तक कैसे ले जाएंगे?


8 – प्रत्येक कोर्स के बाद एक पोस्ट टेस्ट आयोजित होगा और सभी 18 कोर्स करने के पश्चात जनवरी 2021में आनलाइन कम्पीटेंसी टेस्ट आयोजित होगा जिसमें 60% से अधिक अंक लाना अनिवार्य है।

ऑनलाइन कंपीटेंसी टेस्ट में न्यूनतम 60% अंक प्राप्त करने वाले को ही “निष्ठा प्रशिक्षण प्राप्त करने का प्रमाण पत्र एनसीईआरटी दिल्ली द्वारा प्रदान किया जाएगा।


9 – कोर्स करने से जो भी ज्ञान या कौशल आप प्राप्त करेंगे, उनका प्रयोग कक्षाओं में करने से ही लर्निंग आउट कम्स प्राप्त होंगे ।


10 – सभी 18 कोर्स पूर्ण होने के बाद इनकी E-सर्विस बुक में होगी।

निष्ठा(nishtha) प्रशिक्षण माड्यूल:कब,कैसे पूरा करें प्रशिक्षण?प्रश्नों के उत्तर सहित

11- जो लोग वीडियो फारवर्ड कर कोर्स निर्धारित समय के पूर्व कर लेते हैं, ऐसे शिक्षकों की संख्या 6 से 10 प्रतिशत है और अगर निष्ठा कोर्स में भी ऐसा किया जाता है तो उन शिक्षकों पर कार्यवाही होगी। 


12 – कोर्स पूरा करने में जो डाटा कन्ज्यूम होगा उसके लिए प्रत्येक शिक्षक के खाते में धनराशि भेजी जायेगी ।


13 – भविष्य में इन 18 कोर्स करने की समीक्षा की जायेगी व इनके परिणाम के आधार पर आपका भविष्य तय होगा। अतः इसे गंभीरता से लें।


14- यह कोर्स जिले में पदस्थ सभी मॉनिटरकर्ता अधिकारी व कक्षा 1 से 8 तक पढ़ाने वाले सभी प्रधानाध्यापकों व शिक्षकों के लिए अनिवार्य है।


15- जिले में डाइट प्राचार्य इस कार्यक्रम के नोडल अधिकारी रहेंगे तथा तकनीकी नोडल अधिकारी SRG होगें


16 – कोर्स से सम्बंधित कोई भी परेशानी आने पर आप इनमें से किसी भी नोडल अधिकारी अथवा ब्लॉक के MIS कोआर्डिनेटर से सम्पर्क कर ले

जो विकासखंड के तकनीकी नोडल अधिकारी हैं। इसके लिए आपको एक ई मेल आईडी भी प्राप्त होगी जिस पर आप अपनी समस्या भेज सकते हैं।

New Diksha Course:बच्चों की बातचीत


अत: आप सभी से अनुरोध है, कि आप इन 18 कोर्स को समय पर पूर्ण करें व इनसे सीखें और अपनी कक्षा में अध्ययनरत बच्चों के सीखने सिखाने की प्रक्रिया में इनका उपयोग करें। 


Spread the love

What’s about NISHTHA TRANING(निष्ठा प्रशिक्षण):Online training

Spread the love

NISHTHA निष्ठा

प्रारंभिक शिक्षा में सीखने के प्रतिफलों की उपलब्द्धि को सुनिश्चित करने के लिए एक राष्ट्रव्यापी आंदोलन निष्ठा “समेकित शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम” (Integrated Teacher Training Programme) समग्र शिक्षा के अंतर्गत शुरू किया गया है।

केंद्र पोषित

यह क्षमता सम्वर्धन कार्यक्रम हैं। “Improving Quality of School Education through Integrated Teacher Training” जिसे केंद्रीय सरकार निधि प्रदान कर रही है।

 

NISTHA ऑनलाइन मोड में स्कूल प्रमुखों और शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पहल कार्यक्रम शुरू किया गया है।

प्रमुख बिंदु

प्रारंभ में, NISHTHA कार्यक्रम देश में प्रारंभिक स्तर पर सीखने के परिणामों को बेहतर बनाने के लिए 2019 में फेस-टू-फेस मोड के माध्यम से शुरू किया गया था ।

Covid -19 महामारी की स्थिति और लॉकडाउन ने आमने-सामने मोड में इस कार्यक्रम के संचालन को प्रभावित किया है।

   
इसलिए, NISHTHA को नॉलेज शेयरिंग (DIKSHA) और NISHTHA पोर्टल्स के लिए डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर के माध्यम से ऑनलाइन मोड के लिए अनुकूलित किया गया है ।

 

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देशभर के लाखों शिक्षकों को निःशुल्क प्रशिक्षण देने के लिए “निष्ठा योजना 2020 (NISHTHA Yojana)” को शुरू करने का निर्णय लिया है।

 

NISHTHA (National Initiative for School Head’s and Teacher’s Holistic Advancement) योजना केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई राष्ट्रीय पहल है।

सरकार ने स्कूलों में पढ़ा रहे शिक्षकों को एक खास प्रशिक्षण देने की बात कही है। फिलहाल इनमें पहली से आठवीं तक के बच्चों को पढ़ाने वाले करीब 42 लाख शिक्षकों को शामिल किया जाएगा। इस योजना को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री (HRD Minister) रमेश पोखरियाल निशंक ने लॉच किया है।


Contents [hide]

1 निष्ठा योजना 2020 शिक्षक फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम-

1.1 निष्ठा योजना (शिक्षा को बेहतर बनाने की हो रही है कोशिश)-

1.2 निष्ठा योजना शिक्षक प्रशिक्षण अभियान के मुख्य चरण-

1.3 शिक्षकों को प्रशिक्षण के बारे में NISHTHA Portal पर क्या मिलेगा?

निष्ठा योजना 2020 शिक्षक फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम-

Nishtha Yojana (Teacher Training Campaign) –

 

निष्ठा योजना प्रारंभिक स्तर पर सीखने के परिणामों को बेहतर बनाने के लिए एक राष्ट्रीय मिशन है। “निष्ठा प्रोग्राम (NISHTHA Program)” के प्राथमिक स्तर पर सभी सरकारी स्कूलों के सभी शिक्षक और स्कूल प्रमुख शामिल होंगे।


🔶NISHTHA एकीकृत प्रशिक्षण कार्यक्रम में शिक्षकों के प्रशिक्षण में किताबों के बजाय बच्चों के बौद्धिक विकास पर मुख्य रूप से फोकस रहेगा।

🔶इस कार्यक्रम में बच्चों में महत्वपूर्ण सोच को प्रोत्साहित करने और बढ़ावा देने के लिए शिक्षकों को प्रेरित और सुसज्जित किया जाएगा।

🔶छात्र तब विविध स्थितियों को संभालने में सक्षम होंगे और शिक्षक प्रथम स्तर के काउंसलर के रूप में कार्य कर सकेंगे!

निष्ठा योजना (शिक्षा को बेहतर बनाने की हो रही है कोशिश

Nishtha Yojana (Being tried to improve education) – 


इस योजना के तहत शिक्षकों के प्रशिक्षण की इस पहल से स्कूली शिक्षा को मजबूती मिलेगी। ऐसे ही प्रयास आगे किए जाएंगे। उन्होंने ये भी कहा कि भारत को पहले से ही विश्व गुरू की उपाधि दी जाती है।

इन चीजों का प्रयास करेगें कि बच्चे शिक्षा के लिए दूसरे देशों में ना जाएं। साथ ही इस प्रशिक्षण से शिक्षकों की गुणवत्ता काफी बेहतर हो। इसके साथ ही लर्निग आउटकम के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में सुधार हों।

 शिक्षकों को प्रशिक्षण के बारे में NISHTHA Portal पर क्या मिलेगा?

Nishtha Training Yojana for Teachers – आपको निष्ठा प्रशिक्षण के विभिन्न Modules पर हिंदी में एक पूर्ण वीडियो पाठ्यक्रम मिलेगा, जिसमें वह परिवर्तन है जो आप लोगों को राष्ट्र निर्माण के इस चरण में लाने की आवश्यकता है।

◆साथ ही आपको अपनी कक्षा में इन शिक्षण के आवेदन पर सरल और समझने योग्य सामग्री, पीपीटी, पीडीएफ, वीडियो मिलेगी।

◆आपको अपनी कक्षा में आवश्यक गतिविधियाँ मिलेंगी।

◆आप अपने छात्रों के विकास के लिए सरकार द्वारा संचालित विभिन्न नीतियों और योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

◆इसके साथ ही आप Nishtha App को को Download करके इसका उपयोग करना सीखेंगे।

◆आपको Art Integrated Learning और School Based Assessment के बारे में पता चलेगा।

◆अपनी कक्षा में सूचना प्रौद्योगिकी एड्स (Information Technology Aids) का उपयोग और पिछड़े छात्रों और विकलांगों और उनकी जरूरतों के लिए उपलब्ध संसाधनों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।  

https://youtu.be/LZlcGI3zUuI

 

 

 

 Main Stages of NISHTHA training

पीएम निष्ठा योजना शिक्षक प्रशिक्षण अभियान 2019-20 को सफल बनाने के लिए कुछ मुख्य चरणों पर काम किया जाएगा जो निम्नलिखित हैं:

प्रशिक्षण अभियान तीन चरणों में चलेगा और शिक्षक चाहें तो Mobile App के माध्यम से भी जानकारी ले पाएंगे।

प्रशिक्षण अभियान में भाषा, गणित, सामाजिक विज्ञान पर मुख्य रूप से फोकस होगा।

शिक्षकों की ट्रेनिंग की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी।

ट्रेनिंग के दौरान अटेंडेंस की भी जांच की जाएगी।

किसी तरह की परेशानी आने पर काउंसलिंग दी जाएगी।

छात्रों की क्या परेशानियाँ हैं उनको समझने के लिए स्पेशल फोकस ट्रेनिंग दी जाएगी।

Nishtha logo

इसके अलावा शिक्षकों के प्रशिक्षण में किताबों के बजाय बच्चों के बौद्धिक विकास पर मुख्य रूप से फोकस किया जाएगा साथ-साथ इस शिक्षक प्रशिक्षण अभियान (प्रधानमंत्री निष्ठा योजना) में शिक्षकों को क्लासरूम के साथ-साथ फेसबुक, व्हाट्सएप के माध्यम से भी ट्रेनिंग दी जाएगी।

केंद्रीय मंत्री ने चुटकी लेते हुए एक बात और भी बोली कि अब आईएएस बनना आसान होगा पर शिक्षक नहीं। उन्होंने यह भी बताया की शिक्षक बनने की पढ़ाई के पाठ्यक्रम में भी बदलाव किया जा रहा है और शिक्षकों को दी जा रही ट्रेनिंग में पॉक्सो एक्ट और दिव्यांगजन के लिए खास दिशा-निर्देश की भी पढ़ाई कराई जायेगी।

 

Exculsive result (अपेक्षित परिणाम)

  • छात्रों के सीखने के परिणामों में सुधार
  • समावेशी कक्षा के माहौल को सक्षम और समृद्ध बनाना
  • शिक्षकों को छात्रों के सामाजिक, भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक आवश्यकता के प्रति सतर्क और उत्तरदायी होने के लिए पहले स्तर के परामर्शदाताओं के रूप में प्रशिक्षित किया जाता है
  • शिक्षकों को कला का उपयोग करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है ताकि छात्रों में रचनात्मकता और नवीनता बढ़े
  • शिक्षकों को उनके समग्र विकास के लिए छात्रों के व्यक्तिगत-सामाजिक गुणों को विकसित करने और मजबूत करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है
  • स्वस्थ और सुरक्षित स्कूल वातावरण का निर्माण
  • शिक्षण-शिक्षण और मूल्यांकन में आईसीटी का एकीकरण
  • तनाव मुक्त स्कूल आधारित मूल्यांकन का विकास करें, जो सीखने की दक्षताओं के विकास पर केंद्रित है
  • शिक्षक गतिविधि आधारित शिक्षण को अपनाते हैं और रॉट लर्निंग से योग्यता आधारित शिक्षण की ओर बढ़ते हैं
  • शिक्षक और स्कूल प्रमुख स्कूली शिक्षा में नई पहल के बारे में जानते हैं
  • नई पहल को बढ़ावा देने के लिए स्कूलों में शैक्षिक और प्रशासनिक नेतृत्व प्रदान करने के लिए स्कूलों के प्रमुखों का परिवर्तन

 

निष्ठा मेगा-प्रशिक्षण कार्यक्रम अन्य प्रशिक्षण कार्यक्रमों से कैसे भिन्न है

निष्ठा मेगा-प्रशिक्षण कार्यक्रम अपने उद्देश्यों, दृष्टि के साथ-साथ निष्पादन के पूरे प्रारूप के संदर्भ में अन्य प्रशिक्षण प्रोह्रामम्स से अलग है। निष्ठा मेगा-प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्देश्य हैं:


अ. प्रारंभिक चरण के सभी शिक्षकों को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षण, शिक्षा में नई पहल और कई शिक्षाविदों आदि के माध्यम से बच्चों की विविध आवश्यकताओं को संबोधित करना, इत्यादि से लैस करना।

ब.छात्रों के सीखने के परिणामों में सुधार के मद्देनजर इन शिक्षकों को कक्षा स्तर तक कई मोड का उपयोग करके व्यापक सहायता प्रदान करना।

. राज्य के अधिकारियों और प्रधानाचार्यों को सीखने के परिणामों, राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण, शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षाशास्त्र, और स्कूली शिक्षा में नई पहल पर उन्मुख करना ताकि, वे स्कूलों की निगरानी और नई पहल के कार्यान्वयन के लिए स्कूलों को समर्थ बनाने में सहायता प्रदान कर सकें।

निष्ठा (NISHTHA) प्रशिक्षण में किन लोगों को शामिल किया जाएगा और यह प्राथमिक विद्यालयी शिक्षा को कैसे लाभान्वित करेगा

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम शिक्षकों, स्कूल प्रधानाचार्यों, एसएमसी और राज्य / जिला / ब्लॉक / क्लस्टर स्तर के अधिकारीयों के लिए आयोजित किया जाएगा । यह कार्यक्रम प्राथमिक विद्यालयी शिक्षा को निम्नलिखित तरीकों से लाभान्वित करेंगे :

I. सभी प्राथमिक चरण शिक्षण पर काम कर रहे शिक्षकों, प्रधानाचार्यों, ब्लॉक संसाधन समन्वयकों, क्लस्टर संसाधन समन्वयकों को सीखने के परिणाम, बच्चों के सामाजिक व्यक्तिगत गुणों में सुधार, स्कूल-आधारित मूल्यांकन, नई पहल, स्कूल सुरक्षा और विभिन्न विषयों की शिक्षा, आदि के लिए शिक्षार्थी-शिक्षण प्रशिक्षण में समाविष्ट किया जाएगा।

II.इसी तरह, डीआईईटी, एससीईआरटी, आईए एसई, सीटीई, आदि के संकाय सदस्यों को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षण, शिक्षा में नई पहल, बच्चों के सामाजिक गुणों को बेहतर बनाने और विभिन्न विषयों की शिक्षा आदि शिक्षार्थी के प्रशिक्षण के लिए समाविष्ट किया जाएगा।

NISHTHA में दी गई निगरानी और सहायता तंत्र क्या होगा- प्रशिक्षण

बीआरसी, सीआरसी, एनजीओ, केवी, एनवी और, सहित एक एकीकृत निगरानी और समर्थन तंत्र सीबीएसई स्कूल प्रत्येक चरण में स्थापित किए जाएंगे, यह देखने के लिए कि क्या हस्तक्षेप के दौरान प्रदान किया गया है प्रशिक्षण कार्यक्रम कक्षा स्तर तक पहुँचता है।

राष्ट्रीय संसाधन समूह (एनआरपी) कौन होंगे

राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं में कार्यरत शिक्षाविद, विषय-विशेषज्ञ और शैक्षिक शिक्षक जैसे एनसीईआरटी, एनआईईपीए, और विश्वविद्यालय आदि।

प्रमुख संसाधन व्यक्तियों (केआरपी) कौन होंगे

डीआईईटी, एस सी ई आर टी , आई ए एस ई , सी टी ई के शिक्षक और वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों से शिक्षकों की राज्य और संघ राज्यक्षेत्र से पहचान करके राष्ट्रीय संसाधन व्यक्तियों द्वारा उनकी क्षमताओं का निर्माण होगा।

राज्य संसाधन व्यक्तियों – नेतृत्व (एसआरपीएल) कौन होगा

विद्यालय प्रधानाचार्य या प्रभारी जिसने एन आई ई पी ए से राष्ट्रीय नेतृत्व कार्यक्रम का प्रशिक्षण लिया हुआ हो ।

निष्ठा महाप्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा का हस्तांतरण कैसे होगा

इस कार्यक्रम का आयोजन अनुकूलित सोपान विधि द्वारा किया जायेगा।

राष्ट्रीय संसाधन समूह (एनआरजी) राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों के प्रमुख संसाधन व्यक्तियों (जोकि राज्य और संघ राज्यक्षेत्र द्वारा शिक्षक प्रशिक्षण के लिए  जा चुके हों )

और राज्य संसाधन व्यक्तियों (जोकि राज्य और संघ राज्यक्षेत्र द्वारा विद्यालय प्रधानाचार्य और बाकि कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण के लिए पहचाने जा चुके हों ) को प्रशिक्षित करेंगे। यह के आर पी और एस आर पी प्रत्यक्ष्य रूप से प्रधानाचार्य और शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे ।

मास्टर प्रशिक्षक की परत बीच में नहीं होगी । यह प्रक्रिया संचार में होने वाली हानि की मात्रा जोकि पहली परतों में अधिक थी उसको कम करने में सहायक होगी।

 

manav sampada portal:Leave,Document upload,Diksha merge

उद्देश्य:

नेशनल इनिशिएटिव फॉर स्कूल हेड्स एंड टीचर्स होलिस्टिक एडवांसमेंट (NISHTHA) एकीकृत शिक्षक प्रशिक्षण के माध्यम से स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिएएक क्षमता निर्माण कार्यक्रम है ।

इसका उद्देश्य प्रारंभिक स्तर पर सभी शिक्षकों और स्कूल प्रिंसिपलों के बीच दक्षता का निर्माण करना है ।

कार्यान्वयन:

पदाधिकारियों (राज्य, जिला, ब्लॉक स्तर पर) को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी – केंद्रित शिक्षाशास्त्र, शिक्षा में नई पहल, कई शिक्षाओं के माध्यम से बच्चों की विभिन्न आवश्यकताओं को संबोधित करने, आदि पर एकीकृत तरीके से प्रशिक्षित किया जाएगा।

यह राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर राष्ट्रीय संसाधन समूह (NRG) और राज्य संसाधन समूह (SRG) का गठन करके आयोजित किया जा रहा है, जो बाद में 42 लाख शिक्षकों को प्रशिक्षित करेगा ।

नॉलेज शेयरिंग के लिए डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर

DIKSHA पोर्टल को मानव संसाधन विकास मंत्रालय ( MHRD) द्वारा 2017 में लॉन्च किया गया था ।

यह शिक्षकों को खुद को सीखने और प्रशिक्षित करने और शिक्षक समुदाय के साथ जुड़ने का अवसर प्रदान करने के लिए एक डिजिटल मंच प्रदान करता है ।

यह पूरे शिक्षक के जीवन चक्र को देखते हुए बनाया गया है – जब वे शिक्षक के रूप में शिक्षक सेवानिवृत्त होने के बाद  शिक्षक संस्थानों (TEI) में दाखिला लेते हैं।

यह नियमित स्कूल पाठ्यक्रम के बाद, NCERT पाठ्यपुस्तकों और पाठों तक पहुँच प्रदान करता है।

राज्य, सरकारी निकाय और यहां तक कि निजी संगठन, DIKSHA को उनके लक्ष्यों, आवश्यकताओं और क्षमताओं के आधार पर संबंधित शिक्षक पहल में एकीकृत कर सकते हैं।

NISHTHA official app – CLICK HERE

कंपोजिट स्कूल ग्रांट की धनराशि से विद्यालयों में क्रय की जाने वाली सामग्री विद्यालय में कराए जाने वाले कार्यों की सुझाव सूची/विवरण

Deled online classes ➡️ CLICK HERE


Spread the love

UP Primary Teacher Transfer List 2020 Latest News

तबादला
Spread the love

UP Teacher Transfer List 2020

up basic education department Transfer

 

आगरा : अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण कार्यमुक्त किये जाने से पूर्व उसी पद अथवा पदानवत किये जाने के सम्बन्ध में जनपदों में अद्यतन तक की गयी पदोन्नति की दिनांक की जानकारी के सम्बन्ध में

 

2.जालौन
3.झांसी

4. बाराबंकी

5.पीलीभीत

up teacher transfer

Read more


Spread the love

बेसिक शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान – बेसिक शिक्षकों का नगरीय -ग्रामीण कैडर होगा खत्‍म, इंग्‍लिश मीडियम स्‍कूल का मॉडल भी अब होगा बन्द

Spread the love

Spread the loveउत्तर प्रदेश में प्राइमरी शिक्षकों का ग्रामीण क्षेत्रों से नगरीय क्षेत्रों में तबादला अब आसान हो जाएगा।  सरकार ने शहरी और ग्रामीण काडर खत्म करने का निर्णय लिया है। इसके साथ नई शिक्षा नीति के तहत अंग्रेजी माध्यम के परिषदीय स्कूलों को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है। बेसिक शिक्षा मंत्री … Read more


Spread the love

National teacher Award 2021:यूपी के 2 शिक्षकों मिलेगा राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार

Spread the love

Spread the loveNational teacher award शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार यूपी के 2 शिक्षक 2021 के राष्ट्रीय सम्मानों की सूची में शामिल दोनों शिक्षकों ने राष्ट्रीय शिक्षकों के पुरस्कार, 2021 से सम्मानित होने के लिए देश भर में चयनित 44 की सूची का हिस्सा बनाया गया है! देश भर में 44 शिक्षकों की सूची में … Read more


Spread the love

Read along app पार्टनर कोड कैसे जोडे., अपने ब्लॉक का पार्टनर कोड जानिए

Spread the love

Spread the loveRead along app download करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें – https://bit.ly/read-along-up एप डाउनलोड करने के पश्चात उस पर अपना पार्टनर कोड भी डालें। बेसिक शिक्षा मंत्री का बड़ा बयान- शिक्षक करेंगे घर से काम आप अपने ब्लॉक का read along app का पार्टनर कोड यहाँ देख सकते हैं – https://bit.ly/partnercodemappingRead more


Spread the love